-->

Latest Current Affairs 26th November, 2020

 

Current Affairs 26th November 2020

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर,सोनभद्र में ' हर घर नल योजना ' पेयजल परियोजनाओं का शुभारंभ किया

22 नवंबर 2020 को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के विद्यांचल क्षेत्रों में मिर्जापुर और सोनभद्र जिलों में पेयजल परियोजनाओं के लिए 5555.38 करोड़ों रुपए की' हर घर नल योजना ' का शुभारंभ किया।
इस संबंध में 3212.18 करोड़ रुपये सोनभद्र में और 2343.20 करोड़ रुपये मिर्जापुर में खर्च किए जाएंगे।
इससे 2995 गांव में पाइप लाइन के माध्यम से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने से दोनों जिलों में 41,41,438 परिवारों को लाभ होगा।
यह योजना अगले 2 वर्षो  के भीतर पूरी हो जाएगी।
विंध्यांचल क्षेत्र में कई नदियां है फिर भी यह सूखे के मुद्दे का सामना करती है क्योंकि पानी की कमी प्रमुख मुद्दा है। इस समस्या को हल करने के लिए उपर्युक्त योजना शुरू की गई है।
इस अवसर पर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उपस्थित थे।
 यह आदिवासी क्षेत्रों के उत्थान के लिए उत्तर प्रदेश में बड़ी योजनाएं चल रही है जैसे सेंड करो एकलव्य मॉडल स्कूल ऐसे क्षेत्रों में संचालित किए जा रहे हैं।
वन आधारित उत्पादन ऊपर आधारित उत्पादन ओं को भी लागू किया जा रहा है।
आदिवासी क्षेत्रों के जिला खनिज निधि की स्थापना की गई है। उत्तर प्रदेश में निधि के तहत 800 करोड रुपए एकत्रित किए गए हैं और 6000 से अधिक परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है।
आयोजन के बाद योगी आदित्यनाथ ने मिर्जापुर में टाडा फॉल्स गो आश्रय स्थल में गोपाष्टमी कार्यक्रम में भर लिया जिसके दौरान उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना के तहत स्कूल यूनिफॉर्म बनाने वाली महिलाओं को मानदेय का एक चेक सौंपा।
 उत्तर प्रदेश के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

देश- भारत
स्थापना- 24 जनवरी, 1950
राजधानी- लखनऊ
जिले-75
गवर्नर- आनंदीबेन पटेल
मुख्यमंत्री- योगी आदित्यनाथ
उपमुख्यमंत्री- केशवप्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा
राजकीय सस्तन प्राणी- बारसिंगा
राजकीय पक्षी- सारस क्रेन
राजकीय फूल- पलाश
राजकीय पेड़- अशोक
कोरोना वेक्सीन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कोरोनावायरस  वेक्सीन की कीमत और डोज़ नक्की नहीं है पर हमें किनारे पर नाव डूबने नहीं देनी है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आने वाले कुछ महीने में देश में कोरोनावायरस की मृत्युदर 1% से संक्रमण दर 5% नीचे लाने का नक्की किया है। उन्होंने मंगलवार शाम को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग माध्यम के द्वारा कोरोना के बारे में समीक्षा बैठक करके यह लक्ष्य नक्की किए थे। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों को कहा कि वह असरकारक रणनीति बनाये।
समीक्षा बैठक में तमाम राज्य के मुख्यमंत्री हाजिर रहे थे। उनमें से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 राज्य गुजरात, महाराष्ट्र,दिल्ली,हरियाणा, छत्तीसगढ़, केरल, राजस्थान और पश्चिम बंगाल को विशेष ध्यान रखने और कोरोनावायरस रोकने के लिए विशेष प्रयास करने का आदेश दिया।
प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों को कहा हम सबको साथ मिलकर काम करना है आप सब अपने फीडबेक  लिखित में दीजिए, यह बताइए कि आपने अपने राज्य में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए क्या क्या कदम उठाए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने और बताया कि RTPCR टेस्ट का प्रमाण बढ़ाना जरूरी है। गाँव के हेल्थ सेंटर पर ज्यादा ध्यान देना पड़ेगा। इंफ्रास्ट्रक्चर ऑक्सीजन जैसी चीजें प्रमाण में रहे। जागरूकता लाने के अभियान में कोई कमी ना रहे। वेक्सीन का रिसर्च अंतिम तबक्के में पहुँच चूका है।भारत सरकर हर डेवलपमेन्ट को अच्छी तरह से देख रही है। अभी तक यह भी नक्की नही हुआ  की वेक्सीन का एक डोज़ होगा कि दो।
वेक्सीन आने के बाद प्राथमिकता यह है कि वह तमाम लोगो तक पहूँचे।यह अभियान बड़ा है ,जो लंबे समय तक चलेगा और हम सब को एक टीम होकर काम करना पड़ेगा। वेक्सीन को लेकर भारत के पास जो अनुभव है, वो बड़े बड़े देशो के पास भी नही है। भारत जो भी वेक्सीन देगी वह वैज्ञानिक रीत से योग्य होगी।वेक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन राज्य साथ मिलके करेंगे फिर भी योग्य निर्णय हम साथ मिलकर लेंगे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि 8-10 अनुभव के आधार पर देश के पास पर्याप्त डेटा है।आगे की रणनीति बनाने के लिए रिस्पॉन्स और रिएक्शन को समझना जरूरी है।कोरोना दरमियान भारत के लोगो का व्यवहार भी अलग अलग तबक्के में अलग अलग देखने मिला है।
प्रथम तबक्के में डर था। दूसरे तबक्केमे डर के साथ शंका भी थी। बीमारी में कारण समाज से दूर होने का डर था।लोग संक्रमण को छुपाने लगे, हम उससे भी भर आये। तीसरे तबक्के में कुछ हद तक हम समझने लगे और संक्रमण की पहचान करने लगे।नजदीक के लोगो को समजाने लगे।
चौथे तबक्के में रिकवरी रेत बढ़ा।लोगो को लगा कि वाइरस कम हो रहा है, नुकसान नही कर रहा।लेकिन इस तबक्के मे लोग लापरवाह हो गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि हमारे पास टीम तैयार है जो जो चीज तैयार है उनका पालन करो। उससे करो ना अभी नहीं बढ़ेगा और कोई भूल नहीं होगी। आफत के इस गहरे समुद्र में से निकल कर हम किनारे की तरफ बढ़ रहे है। यह एक शायरी जैसी स्थिति न हो कि हमारी कश्ती वहां डूबी,जहां पानी कम था यह स्थिति हमें आने नहीं देनी है।
इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी हाजिर थे। कुछ राज्यों में कोरोना के केस जल्दी से आगे बढ़ रहे हैं ऐसे में यह बैठक महत्व की है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की इस बैठक में हाजिर थे उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोनावायरस के तीसरे तबक्के में 10 नवंबर को 8600 केस आए थे। उसके बाद संक्रमण केस और पॉजिटिविटी रेत में सतत कमी नज़र आई है।
 बैठक में हाजिर मुख्यमंत्री
ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल
उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र
अरविंद केजरीवाल, दिल्ही
अशोक गेहलोत, राजस्थान
विजय रुपाणी, गुजरात
भूपेश बधेल, छत्तीसगढ़
मनोहरलाल खट्टर, हरियाणा
भारत सरकार ने फिर से 43 चीनी एप्स को बैन किया

केंद्र सरकार और 43 मोबाइल एप्स बंध कर दी है, जो ज्यादातर डेटिंग ऐप है। सरकार ने आईटी एक्ट की कलम 69 के अंतर्गत यह ऐप ब्लॉक कर दी है। अब भारत के नागरिक एप्स का उपयोग नहीं कर सकेंगे। सरकार ने देश की सार्वभौमत्व, अखंडता,  सुरक्षा और कानून व्यवस्था के लिए खतरा बताकर इस ऐप्स के सामने कार्यवाही की है।
इसी 1 जून जुलाई और सितम्बर में भी केंद्र सरकार ने 224 ऐप्स पर प्रतिबंध रखा था। हाल ही में जो 43 एप्स बैन की गई है उसमें स्नेक वीडियो सहित अलीबाबा ग्रुप की लोकप्रिय ऐप्स शामिल है। टिकटोक के प्रतिबंध के बाद स्नेक वीडियो एप जल्दी से उसके विकल्प के रूप में उभरी थी। केंद्र सरकार को माहिती मिनी कि यह ऐप भारत के विरुद्ध गतिविधि में शामिल थी। निंदनीय है कि इसे पहली फैक्ट्री न्यूज़ जून में टिकटोक, हेलो सहित 59, जुलाई महीने में 47 और दूसरी सितंबर को पब्जी सहित 118 ऐप पर प्रतिबंध रखा था।
केंद्रीय सरकार 4 बार विविध एप्स के सामने कदम उठाए हैं।
पहलीबार सरकार ने 29 जून के दिन 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध रखा था। यह निर्णय गलवान हमले के बाद लिया गया था।
27 जुलाई ने दिन भी 47 ऐप्स पर प्रतिबंध लादा गया था।
2 सितंबर ने दिन पब्जी सहित 118 ऐप्स बैन की गई थी।पब्जी गेम्स को 17.5 करोड़ से भी ज्यादा लोगो ने डाउनलोड की थी।
आज फिर से 43 मोबाइल ऐप्स को बैन किया गया है। देश की सुरक्षा और अखंडता के लिए जोखिम दर्शाई गई थी।

निम्नलिखित ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है।
अली सप्लायर्स
अलीबाबा वर्कबेंच
अली एक्सप्रेस-स्मार्टर शॉपिंग बेटर लिविंग
अली पे कैशियर
लालामोव इंडिया डिलीवरी एप
ड्राइव विथ लालमोव इंडिया
स्केन वीडियो
केमकार्ड बिजनेस कार्ड रीडर
केमकार्ड BCR
सोलफॉलो द सोल टू फाइंड यू
चाइनीस सोशियल फ्री ऑनलाइन डेटिंग वीडियो एप एंड चैट
डेट इन एशिया डेटिंग एंड चेट फॉर एशियन सिंगल
वीडेट डेटिंग एप
फ्री डेटिंग एप सिंगल स्टार्ट योर डेट
एडोर एप
टूलीचाईनिज- चाइनीज़ डेटिंग एप
टूलीएशियन- एशियन डेटिंग एप
चाइनालव डेटिंग एप फॉर चाइनीज़ सिंगल्स
डेट माइएज, चैट,मीट, डेट मेच्योर सिंगल्स ऑनलाइन
एशियन डेट: फाइंड एशियन सिंगल्स
फ्लर्ट विश: चैट विथ सिंगल्स
गाइज़ ओनली डेटिंग: गे चैट
ट्यूबीट: लाइव स्ट्रीम्स
वी वर्क चाइना
फ़र्ट्स लव लाइव- सुपर हॉट लाइव ब्यूटीज लाइव ऑनलाइन
रेला लेस्बियन सोशियल नेटवर्क
कैशियर वॉलेट
मेंगो टीवी
एमजीटीवी- ह्यूमन टीवी ऑफिशियल टीवी एप
विटीवी टीवी वर्जन
विटीवी-सीड्रामा, के ड्रामा एन्ड मोर
विटीवी लाइट
लकी लाइव-लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग एप
ताओबाओ लाइव
किंगटोक
आइडेंटी वी
आइसोलेण्ड 2: एशेज़ ऑफ टाइम
बॉक्सस्टार
हीरोज़ इवोल्वड
हैप्पी फिश
जेलिपोप मैच डेकोरेट योर ड्रीम आइसलैंड
मंचकिन मैच: मेजिम होम बिल्डिंग
कोंनकविस्टा ऑनलाइन-2

कॉंग्रेस नेता अहेमद पटेल का नीधन

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल का 71 साल की उम्र में निधन हुआ है। उनके पुत्र फैज़ल ने ट्वीट करके यह माहिती दी थी। अहमद पटेल अक्टूबर में कोरोना पॉज़िटिव  हुए थे तब से वह कोरोनावायरस के सामने लड़ रहे थे। बुधवार सुबह 3:30 बजे मेदांता हॉस्पिटल में सारवार के दरमियान उनका निधन हुआ है। अहमद पटेल गुजरात के भरूच के रहवासी थे।
अहमद पटेल के पुत्र फैजल ने ट्वीट करके यह समाचार दिए कि हमसे कि गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने बुधवार को सुबह 3:30 बजे अंतिमश्वास लिए। लगभग 1 महीने पहले उनका कोरोना रिपोर्ट पॉज़िटिव आया था। अल्लाह उनको जन्नत फरमाएं। उन्होंने अपने तमाम शुभचिंतकों को कोरोनावायरस का पालन करने की अपील की थी और हर बार सोश्यल डिस्टेंस रखने का कहा है।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल कोविड-19 इन्फेक्शन से पीड़ित थे।अक्टूबर में उन्हें कोरोना का चेप लगा था और सतत सारवार पर थे।उन्हें रविवार को गुरुग्राम की मेदांता हॉस्पिटल में आईसीयू में एडमिट किया गया था।
अहमद पटेल कॉंग्रेस के ट्रेजरर रह चुके थे और वह 1977 से 1989 तक तीन टर्म ने लिए लोकसभा सांसद रह चुके थे।जब गुजरात से 1993 से वह राज्यसभा सांसद रहे थे।वह कॉंग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी जे राजकीय सलाहकार भी थे।
अहमद पटेल के नीधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , कॉंग्रेस के सोनिया गांधी, राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह सभी ने श्रद्धाजंलि दी।
अहमद पटेल का जन्म 21 अगस्त,1949 में गुजरात के भरूच जिले के पिरामन गाँव मे हुआ था। वह 3 बार लोकसभा सांसद और 3 बार राज्यसभा सांसद बने थे। उन्होंने अपना पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा पर से 62879 वोट से जीता था। तभी उनकी उम्र मात्र 28 साल की थी। वह सिर्फ 28 साल की उम्र में  लोकसभा सांसद बन चुके थे।

क्रिकेटर विराट कोहली का नाम  ICC की 5 कैटगरी में नॉमिनेट हुआ

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन को  ICC प्लेयर ऑफ द डिकेड एवॉर्ड के लिए नॉमिनेट करने में आया है। विराट कोहली को मेन्स क्रिकेट की तमाम 5 केटेगरी में नॉमिनेशन भी मिला है।मंगलवार को ICC ने सभी केटेगरी के लिए नॉमिनेट खिलाड़ियो की जाहिरात की थी।
पूर्व क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को वनडे प्लेयर ऑफ द डिकेड और स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवार्ड के लिए नॉमिनेशन मिला है, जबकि रोहित शर्मा को वनडे के साथ T-20 प्लेयर ऑफ द डिकेड के लिए नॉमिनेट किया गया है। विजेता खिलाड़ियों के नाम की जाहिरात उनको मिलनेवाले  वोट के आधार पर की जाएगी।
प्लेयर ऑफ द डिकेड के उपरांत विराट कोहली को वनडे, टी-20 और टेस्ट तीनों फॉर्मेट में आईसीसी प्लेयर ऑफ द डिकेड के लिए नॉमिनेट किया गया है। विराट कोहली ने पिछले 10 साल में 7000 से ज्यादा इंटरनेशनल रन बनाए हैं। विराट कोहली ने वनडे में 11000 से ज्यादा और T-20 में 2600 से ज्यादा रन बनाए हैं।
कोहली( 21444 रन ) के साथ तीनो फॉर्मेट में सचिन तेंदुलकर( 34357 रन ) और ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग( 27483 रन ) के बाद सबसे ज्यादा रन करनेवाले खिलाड़ियो की सूचीमें तीसरे स्थान पर है। आन्तर्राष्ट्रीय शतक बनाने में मामले में विराट कोहली मात्र तेंदुलकर(100)और पोंटिंग(71)से ही पीछे है।विराट कोहली ने 70 आन्तरराष्ट्रीय शतक बनाये है।
 मेन्स क्रिकेट नॉमिनेशन
ICC प्लेयर ऑफ द डिकेड : विराट कोहली(भारत), रविचंद्रन अश्विन(भारत), जो रूट(इंग्लेंड), केन विलियमसन(न्यूजीलेंड), स्टीव स्मिथ(ऑस्ट्रेलिया), एबी डी विलियर्स(दक्षिण अफ्रीका), कुमार संगकारा(श्रीलंका)
ICC टेस्ट प्लेयर ऑफ द डिकेड:
विराट कोहली(भारत), केन विलियमसन(न्यूजीलेंड), स्टीव स्मिथ(ऑस्ट्रेलिया), जेम्स एंडरसन(इंग्लेंड), रंगाना हेराथ(श्रीलंका), यासिर शाह(पाकिस्तान)
ICC वनडे प्लेयर ऑफ द डिकेड:
विराट कोहली(भारत), लसिथ मलिंगा(श्रीलंका), मिचेल स्टार्क(ऑस्ट्रेलिया), एबी डी विलियर्स(दक्षिण अफ्रीका), रोहित शर्मा(भारत), एमएस धोनी(भारत), कुमार संगाकारा(श्रीलंका)
ICC T-20 प्लेयर ऑफ द डिकेड:
राशिद खान(अफगानिस्तान), विराट कोहली(भारत), इमरान ताहिर(दक्षिण अफ्रीका), आरोन फिंच(ऑस्ट्रेलिया), लसिथ मलिंगा(श्रीलंका), क्रिस गेल(वेस्टइंडीज), रोहित शर्मा(भारत)
ICC स्पिरिट ऑफ क्रिकेट एवॉर्ड ऑफ द डिकेड:
विराट कोहली(भारत), केन विलियमसन(न्यूजीलेंड), ब्रेंडन मैक्कुलम(न्यूजीलेंड), मिस्बाह उल हक(पाकिस्तान), एमएस धोनी(भारत), महेला जयवर्धन(श्रीलंका), डेनियल विटोरी(न्यूजीलेंड), आन्या शरबसोल(इंग्लेंड), कैथरीन ब्रन्ट(इंग्लेंड)

Related Posts

There is no other posts in this category.

एक टिप्पणी भेजें

Subscribe Our Newsletter