-->

Latest Current Affairs 12th December, 2020

 

                  Current Affairs 12th December, 2020

भारतीय जलवायु शिखर सम्मेलन 
पहला भारत जल प्रभाव शिखर सम्मेलन 10 दिसंबर, 2020 को शुरू हुआ था। इस वर्ष शिखर सम्मेलन निम्नलिखित विषय के तहत आयोजित किया जा रहा है
थीम: आर्थर गंगा पर ध्यान देने के साथ नदियों और जल निकायों का व्यापक विश्लेषण और समग्र प्रबंधन।
शिखर सम्मेलन का आयोजन नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा और सेंटर फॉर गंगा रिवर बेसिन मैनेजमेंट एंड स्टडीज द्वारा किया जा रहा है। शिखर सम्मेलन गंगा को गले लगाने के तौर तरीकों की आवश्यकता का प्रसार और चर्चा करेगा। साथ ही, यह जल क्षेत्र में निवेशकों और हितधारकों के लिए एक सामान्य मंच के रूप में कार्य करेगा। शिखर सम्मेलन नदी प्रबंधन के लिए भारत और कई अन्य विदेशी देशों के बीच अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देगा।
नमामि गंगे “अर्थ गंगा” के आसपास विकसित होता है। साधारण शब्दों में यह एक विकास मॉडल का अर्थ है जो गंगा से संबंधित आर्थिक गतिविधियों पर केंद्रित है। इस प्रक्रिया के तहत, किसानों को गंगा नदी के किनारे पर स्थायी कृषि प्रथाओं, बिल्डिंग प्लांट नर्सरी बनाने, शून्य बजट खेती और फलदार पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
उपरोक्त गतिविधियों के साथ-साथ आर्थ गंगा में पानी के खेल, पैदल ट्रैक, शिविर स्थलों का विकास, साइकिल चलाना आदि के लिए बुनियादी ढाँचे का निर्माण भी शामिल होगा। अंतत: इसका उद्देश्य हाइब्रिड पर्यटन क्षमता का दोहन करना है, जो धार्मिक और साहसिक पर्यटन दोनों है।
इसे स्वच्छ गंगा के लिए राष्ट्रीय मिशन भी कहा जाता है। इसे 2014 में गंगा के संरक्षण और कायाकल्प में प्रदूषण को कम करने के लिए शुरू किया गया था। यह 2016 में राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण द्वारा प्रतिस्थापित राष्ट्रीय गंगा परिषद द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। कार्यक्रम के मुख्य स्तंभ जैव विविधता और वनीकरण, जन जागरूकता, सीवेज उपचार के बुनियादी ढांचे और औद्योगिक प्रवाह की निगरानी और रिवरफ्रंट विकास और नदी की सतह की सफाई हैं।
मिशन के तहत अब तक लगभग 313 परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है। वे 25,000 करोड़ रुपये मूल्य के हैं।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बिहार में सोन नदी पर कोलीवर पुल का उद्घाटन किया
10 दिसंबर 2020 को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने बिहार में सोन नदी के ऊपर कोलीवर पुल का उद्घाटन किया। इस पुल का निर्माण 256 करोड रुपए के खर्च से किया  गया था।
सड़क और रेल यातायात दोनों के लिए नदी पर मौजूदा दो ललितपुर 138 साल पुराना है उनको बदल दिया गया है जिसमें 3 लेन की गाड़ी शामिल है। पुल बाद में NH-30 और NH-922 पर यातायात को कम करेगा। यह उत्तर प्रदेश और बिहार के बीच सभी प्रमुख लिंक है।
18 सो 62 और 19 के बीच यह पूरे भारत का सबसे लंबा पुल था। इसका उद्घाटन भारत के तत्कालीन वाईसराय लॉर्ड एल्गिन ने किया था। उनको अब्दुल बारी पुल की कहा जाता है।
दुबारी वह एक भारतीय शैक्षणिक और सामाजिक सुधारक थे। वह भारत को सामाजिक असमानता से मुक्त करना चाहते थे गुलामी और संप्रदाय के विध्वेश से मुक्त करना चाहते थे। उन्होंने 1921 1922 और 1942 में स्वतंत्र पूर्वक के दौरान बंगाल, बिहार, उड़ीसा राज्य में श्रमिक वर्ग को एकजुट करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी। टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष थे।
सोन नदी गंगा नदी की प्रमुख सहायक नदी में से एक है। यह मध्य प्रदेश के अमरकंटक के पास होती है। अमरकंटक तीर्थ सिरोही व एक अद्वितीय प्राकृतिक विरासत क्षेत्र है और विंध्य  और सतपुड़ा पर्वतमाला का मिलन बिंदु है। अमरकंटक नर्मदा और जोहिला नदी का प्रारंभिक बिंदु भी है।

फ्रांस ने बनाया इस्लाम धर्म के खिलाफ कानून
फ्रांसीसी के पीएम के हाल ही में एक मैसेज आकलन पेश किया है जो कट्टरपंथी इस्लामवाद को लक्षित करता है।
कानून में कई उपाय की परिकल्पना की गई है जिसमें स्कूली शिक्षा सुधार शामिल है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि मुस्लिम बच्चे स्कूल से बाहर ना निकले।
इसका उद्देश्य उपदेशक और मस्जिदों पर सख्त नियंत्रण प्रदान करना है।
कानून ऑनलाइन नफरत फैलाने वाले अभियानों के खिलाफ नियम प्रदान करेगा।
जब कानून लागू होगा तो फ्रांसीसी मस्जिदे अपनी गतिविधियों विशेष रूप से वित्तपोषण पर निगरानी बढ़ाएगी।
कल के तहत फ्रांसीसी सरकार पूजा स्थलों को बंद करने के लिए अधिक से अधिक शक्तियों के साथ सशक्त होगी। यह पूजा स्थल वे है जिन्हें सार्वजनिक सब्सिडी प्राप्त होती है। यदि वे लैंगिक समानता किसे गणतंत्र के सिद्धांतों के खिलाफ जाते हैं तो उन्हें बंद कर दिया जाएगा।
चरमपंथी PUTSCH द्वारा लक्षित किए जा रहे सामुदायिक नेताओं को कानून के तहत संरक्षण प्राप्त होगा। PUTSCH  एक सरकार को उखाड़ फेंकने का एक हिंसक प्रयास है।
कानून 3 साल से अधिक के बच्चों के घर स्कूली शिक्षा को बुरी तरह से दबा देगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसके माध्यम से माता-पिता उन्हें भूमिगत इस्लामी संरचनाओं में भर्ती करते हैं।
कानून वर्जिनिटी सर्टिफिकेट जारी करने वाले डॉक्टरो को दंडित करेगा।
कानून अधिकारियों को बहुविवाह आवेदकों को निवास परमिट देने से प्रतिबंध लगाएगा।
कानून अपनी शादी से पहले जोड़ो को अलग से साक्षात्कार करने की अनुमति देता है  ताकि पता लगाया जा सके की वे शादी के लिए मजबूर है या नही।

सोनू सूद ने वर्ष 2020 में विश्व की 50 एशियाई सेलेब्रिटीज की सूची में किया टॉप
Global Asian Celebrity Of 2020: भारतीय अभिनेता सोनू सूद ने यूके स्थित ईस्टर्न आई समाचार पत्र द्वारा प्रकाशित की गई '50 एशियन सेलेब्रिटीज इन द वर्ल्ड' 2020 की सूची में पहला स्थान हासिल किया है। 47 वर्षीय प्रतिभाशाली बॉलीवुड स्टार को कोविड-19 महामारी के दौरान अपने प्रेरक परोपकारी कार्यों, विशेष रूप से प्रवासी कामगारों को उनके घर लौटने में मदद करने के लिए सम्मानित किया गया है। सोनू सूद ने 2020 का टॉप एशियाई सेलिब्रिटी बनने के लिए कई ग्लोबल स्टार को पीछे छोड़ दिया है, जिसमें हॉलीवुड, संगीत उद्योग, टेलीविजन, साहित्य और सोशल मीडिया शामिल हैं।
कनाडा के YouTuber, सोशल मीडिया स्टार, कॉमेडियन और टीवी शख्सियत लिली सिंह ने अपनी "पैथब्रेकिंग जर्नी, शानदार आउटपुट और दर्शकों का मनोरंजक करने के लिए, वो भी ऐसे समय में जब उन्हें इसकी आवश्यकता थी" के लिए दूसरे स्थान हासिल किया है।
सूची में शामिल अन्य भारतीय सेलेब्रिटीज:
भारतीय गायक अरमान मलिक अपने बेहतर संगीत के लिए पांचवें स्थान पर रखा गया है, जिसमें अंग्रेजी भाषा के गाने भी शामिल हैं। छठे स्थान पर रहीं प्रियंका चोपड़ा जोनास दुनिया में सबसे प्रसिद्ध भारतीय स्टार बनी हुई हैं, जबकि बाकी शीर्ष 10 में पैन-इंडियन स्टार प्रभास (7) शामिल हैं।




Related Posts

There is no other posts in this category.

टिप्पणी पोस्ट करें

Subscribe Our Newsletter